विश्वविद्यालयों का सत्र नियमित करें कुलपति बोले डा. धन सिंह रावत

0
55

विश्वविद्यालयों का सत्र नियमित करें कुलपति बोले डा. धन सिंह रावत

साथ ही दो सप्ताह के भीतर छात्र संघ चुनाव कराने के निर्देश

प्रदेश के राजकीय विश्वविद्यालयों में शैक्षिक सत्र को नियमित किया जायेगा। इसके लिये सभी राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को दिशा-निर्देश दे दिये गये हैं। इसके अलावा विश्वविद्यालय परिसरों एवं महाविद्यालयों में दो सप्ताह के भीतर छात्र संघ चुनाव कराने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये गये। जिसकी तिथि विश्वविद्यालय के कुलपति विचार-विमर्श के उपरांत नियत करेंगे। समस्त विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में छात्र संघ चुनाव एक ही दिन कराये जायेंगे।

सूबे के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने आज विधानसभा स्थित सभाकक्ष में उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने एक प्रवेश, एक परीक्षा, एक परिणाम, एक दीक्षांत व एक चुनाव के फार्मूले के तहत प्रदेश के राजकीय विश्वविद्यालयों में शैक्षिक सत्र नियमित करने के निर्देश विश्वविद्यालयों के कुलपतियों एवं उच्च शिक्षा विभाग के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का मकसद प्रदेश में उच्च शिक्षा सत्र को समय पर शुरू करना है ताकि अगले शैक्षणिक सत्र में समय पर प्रवेश करने के साथ ही 30 सितम्बर तक छात्र संघ चुनाव भी सम्पन्न कराये जा सके। इसके लिये उन्होंने सभी विश्वविद्यालय के कुलपतियों को आपस में विचार-विमर्श कर राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप शैक्षणिक कैलेंडर तैयार कर समयबद्ध तरीके से लागू करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि वर्तमान शैक्षणिक सत्र में छात्र संघ चुनाव दो सप्ताह के भीतर कराये जाने पर सहमति बनी है। चुनाव तिथि सभी कुलपति उच्च शिक्षा निदेशक व शासन के अधिकारी आपस में विचार विमर्श कर तय नोटिफिकेशन जारी किया जायेगा। जिसमें लिंगदोह समिति की सिफारिशों को सख्ती से लागू किया जायेगा। इसके लिये उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों को अपनी तैयारी में जुट जाने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर सचिव उच्च शिक्षा शैलेश बगोली, अपर सचिव आशीष श्रीवास्तव, कुलपति प्रो. डी.एस. रावत, प्रो. एन.के.जोशी, प्रो. एस.एस. बिष्ट, प्रो. सुरेखा डंगवाल, प्रो. एम.एस.एम रावत, प्रो. के.डी. पुरोहित उच्च शिक्षा निदेशक प्रो. सी.डी. सूंठा, संयुक्त निदेशक प्रो. ए.एस. उनियाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here