13.2 C
Dehradun
Sunday, March 3, 2024

हम हमारे मार्गदर्शक प्रधानमंत्री के बताएं मार्ग पर चलकर उत्तराखंड को देश का श्रेष्ठ राज्य बनाने के अपने ’’विकल्प रहित संकल्प’’ को लेकर एकनिष्ठ होकर कार्य कर रहे हैं: धामी

जब हम आज राष्ट्र ऋषि प्रधानमंत्री मोदी जी की ओर देखते हैं तो हमें उनमे सभी महान विभूतियों का अंश उनमें दिखाई देता है : मुख्यमंत्री धामी

हम हमारे मार्गदर्शक प्रधानमंत्री के बताएं मार्ग पर चलकर उत्तराखंड को देश का श्रेष्ठ राज्य बनाने के अपने ’’विकल्प रहित संकल्प’’ को लेकर एकनिष्ठ होकर कार्य कर रहे हैं: धामी

 

गुजरात में ’’वाईब्रेंट गुजरात’’ आयोजन से प्रेरणा पाकर हमनें भी ’’डेस्टिनेशन उत्तराखंड’’ की थीम पर इस इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया : धामी

 

धामी ने कहा हमारा प्रयास रहेगा कि हर 2 साल के अंतराल में इस समिट का आयोजन उत्तराखंड मे किया जाए

“डेस्टिनेशन उत्तराखंड” का मुख्य उद्देश्य, ग्रीन इकोनॉमी और रोजगार को लेकर इकोलॉजी और इकोनॉमी के समन्वय द्वारा राज्य का समुचित विकास: धामी

प्रधानमंत्री मोदी ,स्वामी विवेकानंद की भांति भारतीय संस्कृति की पताका को पूरे विश्व में लहरा रहे हैं : धामी

प्रधानमंत्री मोदी सरदार वल्लभभाई पटेल की भांति राष्ट्र को सुदृढ़ एवं संगठित बना रहे है: धामी

मोदी जी बाबा साहेब आंबेडकर की भांति दलितों एवं वंचितों की चिंता करते हैं और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्शों पर चलते हुए अंत्योदय के स्वप्न को साकार करने के लिए कार्य कर रहे हैं: धामी

 

ये हमारा सौभाग्य है कि मोदी जी के नेतृत्व में हम उस महान यात्रा के सहयात्री हैं जिस यात्रा का गंतव्य भारत को परम वैभवशाली राष्ट्र बनाना है: धामी

आज केवल भारत ही नहीं बल्कि विश्व के अन्य देश भी प्रधानमंत्री की सोच, उनकी रणनीति और उनके विचारों का अनुसरण करते हैं: धामी

ग्लोबल इन्वेस्टर समिट मे अपने जब हम आज राष्ट्र ऋषि प्रधानमंत्री मोदी की ओर देखते हैं तो हमें उन सभी महान विभूतियों का अंश उनमें दिखाई देता हैसंबोधन में धामी ने कहा कि हमारे देश में समय समय पर अनेकों महापुरूषों ने मां भारती के मुकुट की शोभा बढ़ाने और समाज को सही दिशा दिखाने का कार्य किया है। इनमें से कई ऐसी विभूतियां हैं जिनके बारे में हमने केवल सुना है, उन्हें प्रत्यक्ष रूप से देखा नहीं है, लेकिन जब हम आज राष्ट्र ऋषि प्रधानमंत्री मोदी की ओर देखते हैं तो हमें उन सभी महान विभूतियों का अंश उनमें दिखाई देता है

प्रधानमंत्री मोदी , स्वामी विवेकानंद की भांति भारतीय संस्कृति की पताका को पूरे विश्व में लहरा रहे हैं, सरदार वल्लभभाई पटेल की भांति राष्ट्र को सुदृढ़ एवं संगठित बना रहे है, बाबा साहेब आंबेडकर की भांति दलितों एवं वंचितों की चिंता कर रहे हैं और पंडित दीनदयाल उपाध्याय के आदर्शों पर चलते हुए अंत्योदय के स्वप्न को साकार करने के लिए कार्य कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि ये हमारा सौभाग्य है कि हम प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में उस महान यात्रा के सहयात्री हैं जिस यात्रा का गंतव्य भारत को परम वैभवशाली राष्ट्र बनाना है।

 

प्रधानमंत्री मोदी जिस कठिन परिश्रम द्वारा भारत को पुनः विश्व गुरू बनाने के प्रति प्रयत्नशील है वह न केवल मेरे जैसे सामान्य व्यक्ति को और अधिक परिश्रम करने के लिए प्रेरित करता है बल्कि एक सौ चालीस करोड़ भारतीयों में आशा एवं विश्वास का बीज भी रोपित करता है।

उन्होंने कहा आज केवल भारत ही नहीं बल्कि विश्व के अन्य देश भी प्रधानमंत्री की सोच, उनकी रणनीति और उनके विचारों का अनुसरण करते हैं।

 

धामी ने कहा कि

हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि ’’महाजनो येन गतः स पंथा!’’

 

अर्थात: जिस मार्ग पर विद्धान लोग चलें उसी मार्ग का अनुसरण करना चाहिए।

 

मुख्यमंत्री धामी ने का

हम भी हमारे मार्गदर्शक प्रधानमंत्री के बताएं मार्ग पर चलकर उत्तराखंड को देश का श्रेष्ठ राज्य बनाने के अपने ’’विकल्प रहित संकल्प’’ को लेकर एकनिष्ठ होकर कार्य कर रहे हैं

 

मुख्यमंत्री धामी ने कहा “डेस्टिनेशन उत्तराखंड” का मुख्य उद्देश्य, ग्रीन इकोनॉमी और रोजगार को लेकर इकोलॉजी और इकोनॉमी के समन्वय द्वारा राज्य का समुचित विकास करना है

उन्होने कहा प्रधानमंत्री मोदी द्वारा गुजरात में ’’वाईब्रेंट गुजरात’’ नाम से जो इन्वेस्टर समिट का आयोजन प्रारंभ किया गया था, उसी से प्रेरणा पाकर हमनें भी ’’डेस्टिनेशन उत्तराखंड’’ की थीम पर इस इन्वेस्टर समिट का आयोजन किया है, धामी ने कहा हमारा प्रयास रहेगा कि हर 2 साल के अंतराल में इस समिट का आयोजन उत्तराखंड मे किया जाए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles