13.2 C
Dehradun
Sunday, March 3, 2024

मंत्री डॉ धन सिंह रावत, सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम, निबंधक सहकारी समितियां उत्तराखंड आलोक कुमार पांडेय सहित अधिकारियों द्वारा राज्य के 10 डीसीबी के चेयरमैन के पांच साल पूरे होने पर विदाई दी

मंत्री डॉ धन सिंह रावत, सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम, निबंधक सहकारी समितियां उत्तराखंड आलोक कुमार पांडेय सहित अधिकारियों द्वारा राज्य के 10 डीसीबी के चेयरमैन के पांच साल पूरे होने पर विदाई दी

 

 

 

 

मंत्री डॉ धन सिंह रावत, सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम, निबंधक सहकारी समितियां उत्तराखंड श्री आलोक कुमार पांडेय सहित अधिकारियों द्वारा राज्य के 10 डीसीबी के चेयरमैन के पांच साल पूरे होने पर विदाई दी गई। इस मौके पर मंत्री डॉ रावत ने समीक्षा बैठक भी की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि,100 प्रतिशत एमपैक्स का ऑडिट कराया जाए। दीनदयाल सहकारी किसान कल्याण योजना में किसानों को ऋण बांटने में तेजी लाई जाए।

 

 

को-ओपरेटिव बैंकों के अध्यक्षों ने कहा कि सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत का सहकारी बैंकिंग क्षेत्र में सकारात्मक बदलाव लाने में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उनके मार्गदर्शन में, सहकारिता विभाग ने सहकारी बैंकों की कार्यप्रणाली को बढ़ाने और उन्हें लोगों की जरूरतों के प्रति अधिक उत्तरदायी बनाने के लिए सक्रिय कदम उठाए हैं। नई नीतियों के कार्यान्वयन और नवीन वित्तीय उत्पादों की शुरूआत का उद्देश्य सहकारी बैंकिंग क्षेत्र को मजबूत करना और लंबे समय तक इसकी स्थिरता सुनिश्चित करना है। किसानों को बगैर ब्याज के ऋण देने

और कोविड काल में लोगों के रोजगार के दरवाजे खोलने में मंत्री डॉ रावत की बड़ी भूमिका रही।

 

 

अध्यक्षों ने कहा कि डॉ. धन सिंह रावत के नेतृत्व में सहकारी बैंकिंग क्षेत्र की प्रगति सराहनीय रही है। उनके कार्यकाल के दौरान लागू की गई विभिन्न योजनाओं और पहलों के सकारात्मक परिणाम आए हैं, जिससे लोगों को लाभ हुआ है और राज्य के समग्र विकास में योगदान मिला है। सहकारी बैंकिंग क्षेत्र में वास्तव में महत्वपूर्ण वृद्धि और सुधार देखा गया है, और यह आने वाले वर्षों में राज्य के आर्थिक विकास में और भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए तैयार है।

 

 

सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत द्वारा दी गई विदाई इस बात का प्रमाण है कि उनके नेतृत्व में सहकारी बैंकिंग क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति हुई है। राज्य सहकारिता में वास्तव में आगे बढ़ा है, और लागू की गई विभिन्न पहलों और योजनाओं से किसानों को ठोस लाभ हुआ है। सहकारी बैंकिंग क्षेत्र अब राज्य के समग्र आर्थिक विकास में योगदान देने के लिए बेहतर स्थिति में है।

 

 

डीसीबी टिहरी चेयरमैन सुभाष रमोला, डीसीबी देहरादून के चेयरमैन श्री अमित शाह (चौहान) , डीसीबी कोटद्वार (पौड़ी गढ़वाल) के चेयरमैन श्री नरेंद्र सिंह रावत, डीसीबी उत्तरकाशी के चेयरमैन श्री विक्रम सिंह रावत, डीसीबी चमोली के चैयरमेन श्री गजेन्द्र सिंह रावत, डीसीबी हरिद्वार के चेयरमैन श्री प्रदीप चौधरी, डीसीबी नैनीताल के चेयरमैन श्री राजेंद्र सिंह नेगी, डीसीबी अल्मोड़ा के चेयरमैन श्री ललित लटवाल,डीसीबी पिथौरागढ़ के चेयरमैन श्री मनोज सामंत को निबंधक मुख्यालय में विदाई समारोह किया। सभी चेयरमैन को मंत्री और सचिव ने शॉल ओढाकर सम्मानित किया।

 

मंत्री डॉ रावत, सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम, निबंधक श्री आलोक कुमार पांडेय ने कहा कि डिस्ट्रिक्ट कॉपरेटिव बैंक के चेयरमैन और बोर्ड ने पांच साल तक बैंक को ऊँचाइयों में ले जाने के काम किया है। बैंकों ने प्रॉफिट कमाया है।नाबार्ड के सीजीएम श्री बीके बिष्ट इस मौके पर अपर निबंधक ईरा उप्रेती, आनंद शुक्ल , नीरज बेलवाल, एमपी त्रिपाठी, रामिन्द्री मंद्रवाल, मान सिंह सैनी, डीआर गढ़वाल मंडल नरेंद्र सिंह रावत, डीआर कुमाऊ मंडल हरीश चंद्र खंडूडी सहित जिलों के एआर व डीसीबी के सभी महाप्रबंधक शामिल हुए।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles