प्रदेश की पहली महिला मुख्य सचिव बनने जा रही है राधा रतूड़ी

0
51

बड़ी ख़बर : राधा रतूड़ी होगी प्रदेश की पहली महिला मुख्य सचिव

मुख्यमंत्री पुष्का सिंह धामी की सरकार मे राज्य की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी होंगी राधा रतूड़ी

प्रदेश की पहली महिला मुख्य सचिव बनने जा रही है राधा रतूड़ी

धामी सरकार का फैसला : आईएएस राधा रतूड़ी उत्तराखंड के मुख्य सचिव की कुर्सी संभालेंगी..

मुख्यमंत्री धामी की पसंद की अफसर हैं राधा रतूड़ी,उत्तराखंड के मुख्य सचिव की कुर्सी संभालेंगी

धामी सरकार मे : राज्य की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी होंगी राधा रतूड़ी

उत्तराखंड को नया मुख्य सचिव मिलने जा रहा है उत्तराखंड का अगला मुख्य सचिव कौन होगा, इसकी घोषणा हो गई है. वरिष्ठ आईएएस राधा रतूड़ी उत्तराखंड के मुख्य सचिव की कुर्सी संभालेंगी. वर्तमान मुख्य सचिव एसएस संधू के रिटायरमेंट के बाद राधा रतूड़ी उत्तराखंड में ब्यूरोक्रेसी की नई बॉस होंगी..
एसएस संधू के बाद राधा रतूड़ी उत्तराखंड में सबसे सीनियर आईएएस अधिकारी हैं. अभी तक राधा रतूड़ी अपर मुख्य सचिव के पद पर रही राधा रतूड़ी 1988 बैच की IAS अधिकारी हैं. उन्होंने प्रदेश में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां बखूबी संभाली हैं. वर्तमान में राधा रतूड़ी मुख्यमंत्री धामी के अपर मुख्य सचिव की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभाल रही है ओर अब वे उत्तराखंड की मुख्य सचिव बन जाएंगी, राधा रतूड़ी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की पसंद की अफसर हैं और वह गैरविवादित अफसर मानी जाती हैं. इसके साथ ही उन्हें राज्य में सादगी पसंद अफसर माना जाता है…
राधा रतूड़ी के सीएस बनते ही उत्तराखंड में एक साथ दो नए रिकॉर्ड बनेंगे. पहला वह राज्य की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी होंगी राधा रतूड़ी राज्य की पहली महिला अफसर होंगी जिनके पति राज्य के डीजीपी रह चुके हैं. गौरतलब है कि राधा रतूड़ी के पति अनिल रतूड़ी भी राज्य के डीजीपी रह चुके हैं. जबकि राज्य में अभी तक कोई भी आईएएस और आईपीएस दंपत्ति इन दो पदों पर नहीं रहा है.
उत्तराखंड की अपर मुख्य सचिव गृह एवं सचिवालय प्रशासन आईएएस अधिकारी राधा रतूड़ी सही मायनों में हरफनमौला हैं। जहां पेशेवर मोर्चे पर उनकी उपलब्धियां एक नौकरशाह के रूप में उनकी दक्षता को बयां करती हैं, वहीं वह कई कलाओं में भी निपुण हैं। चाहे वह लेखन हो, फोटोग्राफी हो, या लोक गायन हो, उनकी प्रतिभा कई तरीकों से अभिव्यक्त होती है
वह उन कुछ लोगों में से एक हैं जो अपने सभी प्रयासों में यूपीएससी सीएसई को क्रैक कर सकीं। आईएएस में शामिल होने से पहले उनका चयन आईपीएस और भारतीय सूचना सेवा के लिए हो गया था। पत्रकारिता की पृष्ठभूमि रखने वाली रतूड़ी बदलाव लाने के लिए सिविल सेवाओं में आईं और उन्होंने हर पोस्टिंग में अपने उद्देश्य में सफल होने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here